लखनऊ :- पिछले तीन दशको से उत्तर प्रदेश मे हाशिए पर चल रही कांग्रेस पार्टी को मजबूती देने की उत्तर प्रदेश कांग्रेस प्रभारी प्रियंका गांधी हर संभव कोशिश कर रही है, इसी कडी मे प्रियंका ने उत्तर प्रदेश की कमान ऐसे सख्श के हाथो दी है जिसकी पहचान संघर्ष से की जाती है, प्रियंका ने उत्तर प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू को जरूर नियुक्त कर दिया परन्तु प्रदेश की हर नियुक्ति का फैसला वो स्वयं ले रही है, सूत्रो की माने तो प्रदेश कमेटी और जिला अध्यक्ष के एक-एक पद के लिए कई नाम अपनी टीम से सर्वे कराकर प्रियंका ने मंगवाया और खुद साक्षात्कार लेकर लोगो को चुनकर पदाधिकारी नियुक्त किया है, प्रदेश कमेटी घोषित करने के बाद प्रदेश पदाधिकारियों की तीन दिवसीय कार्यशाला ट्रेनिगं का कार्यक्रम अपनी निगरानी में रायबरेली मे प्रियंका ने आयोजित करवाया है, गांधी परिवार के करीबी रहे का दावा है ट्रेनिंग का कार्यक्रम 2007 मे प्रियंका ने अमेठी रायबरेली मे आयोजित करवाया था जिसके परिणाम स्वरूप 70 फीसदी जीत हासिल हुई थी,उसी तर्ज पर प्रियंका 2022 मे यूपी फतेह करने का इरादा रखती है ! जानकारो की मानो तो प्रियंका की रणनीति से उत्तर प्रदेश के कांग्रेस संगठन को जरूर बल मिलेगा पर यह संगठन जनता मे कितनी पैठ बना पता है यह देखने वाली बात होगी !



डिस्क्लेमर :इस आलेख में व्यक्त राय लेखक की निजी राय है। लेख में प्रदर्शित तथ्य और विचार से UPTRIBUNE.com सहमती नहीं रखता और न ही जिम्मेदार है
SHARE

आपकी प्रतिक्रिया