नई दिल्ली। शिव सेना प्रमुख उद्धव ठाकरे ने रविवार को कहा कि भारतीय सशस्त्र बलों के पास आत्मसम्मान है और उन्हें रिश्वत के धन की जरूरत नहीं है।
उद्धव की टिप्पणी ऐसे समय में आई है, जब उनके चचेरे भाई और मनसे नेता राज ठाकरे ने पाकिस्तानी अभिनेताओं के साथ काम करने वाले फिल्मकारों से पांच करोड़ रुपए सेना को दान करने के लिए कहा है।
phpthumb_generated_thumbnail-11
उद्धव ने राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) के बागी नेता सुभाष वेलिंगकर से मुलाकात से अलग संवाददाताओं से कहा कि हमारी सेना के पास आत्मसम्मान है। उसे रिश्वत के धन की जरूरत नहीं है। शिव सेना, गोवा सुरक्षा मंच के साथ गठबंधन कर राज्य विधानसभा चुनाव लडऩे वाली है। इस मंच के संरक्षकों में वेलिंगकर और आरएसएस के अन्य बागी नेता और क्षेत्रीय भाषा के लिए लड़ाई लडऩे वाले शामिल हैं।
ठाकरे ने कहा हमारे बीच एक स्वस्थ चर्चा हुई है और हमने कई मुद्दों पर अपने रुख साझा किए हैं, खासतौर से क्षेत्रीय भाषा, विकास, हिंदुत्व, रोजगार, अच्छा प्रशासन, और अन्य मुद्दों पर। ठाकरे शनिवार से राज्य में डेरा डाले हुए हैं और पार्टी कार्यकर्ताओं के साथ ही संभावित गठबंधन साझेदारों के साथ बैठकें कर रहे हैं।
ठाकरे ने कहा कि गोवा के लिए शिव सेना के घोषणा-पत्र को दिवाली बाद अंतिम रूप दिया जाएगा। ठाकरे ने कहा कि यदि उनकी पार्टी सत्ता में आती है तो वह रोजगार के अवसर बढ़ाएंगे ताकि लोगों को रोजगार की तलाश में राज्य से बाहर न जाना पड़े। पार्टी प्रमुख ने कहा कि भले ही उनकी पार्टी की विचारधारा हिन्दूत्व विचारधारा है, लेकिन इसका मतलब यह नहीं कि वह अन्य धर्मों से नफरत करती है। उन्होंने कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए कहा कि पार्टी विधानसभा चुनाव को लेकर पूरी तरह से गंभीर है।


डिस्क्लेमर :इस आलेख में व्यक्त राय लेखक की निजी राय है। लेख में प्रदर्शित तथ्य और विचार से UPTRIBUNE.com सहमती नहीं रखता और न ही जिम्मेदार है
SHARE

आपकी प्रतिक्रिया