हम भी समझते हैं आपका दुख हमने भी अपना पिता खोया है:- राहुल गांधी, प्रियंका गांधी

शहीदों की शहादत पर बुधवार को आयोजित श्रद्धांजलि सभा में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी व महासचिव प्रियंका गांधी भी शामिल हुई अब कयास लगाए जा रहे हैं कि प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ भी शहीदों के घर आ सकते हैं।

पुलवामा में शहीद शामली के अमित कोरी की याद में बुधवार को शहर रघुनाथ मंदिर में श्रद्धांजलि सभा का आयोजन किया गया था इसमें यूपी सरकार में गन्ना राज्य मंत्री सुरेश राणा सहित बीजेपी विधायक और सीनियर नेता ने भाग लिया सभा को गन्ना राज्य मंत्री सुरेश राणा संबोधित करते रहे इस बीच अचानक राहुल गांधी ने आने की सुगबुगाहट शुरुआत शुरू हो गई भारी संख्या में पुलिस फोर्स तैनात हो गई इसी बीच राहुल गांधी प्रियंका गांधी वाड्रा कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष राज बब्बर वेस्ट यूपी के कांग्रेस प्रभारी ज्योतिरादित्य सिंधिया सभा में पहुंच गए परिजनों को गले से लगा लिया श्रद्धांजलि सभा में राहुल गांधी ने शहीद के पिता सोहन पाल कोरी भाई प्रमोद अर्जुन सुनील और अनिल कोरी को गले से लगा लिया।

प्रियंका गांधी ने भी मां और बहन को काफी देर तक सांत्वना दी बना दी राहुल ने कहा कि देश के लिए शहीद ने अपनी जान कुर्बान कर दी राहुल ने कहा कि शहीद के पिता से बात हुई है उन्होंने बताया है कि उन्हें दुख भी है और उन्हें शहीद पर गर्व भी है राहुल ने कहा कि हमें भी दुख है और गर्व है कि हिंदुस्तान के एक परिवार ने अपनी पूरी जिंदगी अपने बेटे को पढ़ाया लिखाया ने लगाई अपने पूरा प्यार अपने बेटे को दिया और बेटे ने अपना पूरा प्रयास और पूरी जिंदगी इस देश को दी उन्होंने कहा कि परिवार के दुख को महसूस कर सकते हैं हमारे पिता के साथ भी ये हुआ था इसलिए हम समझ सकते हैं कि आपका दुख कितना बड़ा है ।

हमें कोई डरा नहीं सकता :-

राहुल ने कहा कि वह सभी शहीदों के परिवारों को बताना चाहते हैं कि दुनिया में कोई भी ऐसी शक्ति नहीं है जो देश को बांट पाए डरा पाए और पीछे हटा पाए यह वीरों का देश है और शहीदों के उदाहरण देकर दिखया है यह दुख का समय है लेकिन मैं कहना चाहता हूं कि आप सद्भावना बनाए रखें वही प्रियंका ने कहा कि उन्होंने हमारे देश के लिए अपना जीवन दिया पूरा देश उनका कर्जदार है उन्होंने परिवार के साथ हर समय खड़े रहने का आश्वासन दिया

शहीद प्रदीप के घर भी पहुंचे

शहीद अमित कुमार पूरी की श्रद्धांजलि सभा में शामिल होने के बाद राहुल और प्रियंका और अन्य कांग्रेसी नेता पहुंचे।
शहीद के पिता भाई एवं पत्नी से बातचीत राहुल गांधी एवं प्रियंका वाड्रा गांधी ने बातचीत की।
बड़े बेटे सिद्धार्थ से काफी देर तक बातचीत की पढ़ाई पूरी होने के बाद उनको नौकरी दिलवाने का मदद की बात कही गई। बंद कमरे में राहुल गांधी एवं प्रियंका वाड्रा गांधी परिवार जनों से काफी देर तक बातचीत करते रहे



डिस्क्लेमर :इस आलेख में व्यक्त राय लेखक की निजी राय है। लेख में प्रदर्शित तथ्य और विचार से UPTRIBUNE.com सहमती नहीं रखता और न ही जिम्मेदार है
SHARE

आपकी प्रतिक्रिया