मेरठ :- गणतंत्र दिवस के अवसर पर जहां एक तरफ लोगों में राष्ट्रवाद सर चढ़कर बोल रहा था और जगह जगह गणतंत्र दिवस समारोह शान से मनाया जा रहा था वहीं दूसरी तरफ मेरठ शहर के हिंदू महासभा के कार्यालय में गणतंत्र दिवस काला दिवस के रूप में मनाया जा रहा था !
भारत की धर्मनिरपेक्षता जो कि पूरे विश्व में देश को अहम स्थान प्रदान करती है उस पर सवालिया निशान उठाते हुए हिंदू महासभा के लोगों ने जमकर भड़ास निकाली और राष्ट्रपति को संबोधित ज्ञापन भी प्रेषित किया !

जहां एक तरफ भारत सहित पूरे विश्व के भारत के गणतंत्र दिवस के अवसर पर अनेकों समारोह कार्यक्रम देश के गौरव को बढ़ा रहे थे वहीं दूसरी तरफ खुलेआम काला दिवस भी मनाया जा रहा था !

अब सवाल यह उत्पन्न होता है की राष्ट्रीय गौरव गणतंत्र दिवस को कथित राष्ट्रवादियो द्वारा काला दिवस के रूप में मनाया जाना क्या राष्ट्र के सम्मान के विरुद्ध नहीं है ? क्या ऐसे आयोजनों पर पाबंदी नहीं लगना चाहिए ?
इस पर सरकारों को गंभीरता से विचार करना चाहिए !



डिस्क्लेमर :इस आलेख में व्यक्त राय लेखक की निजी राय है। लेख में प्रदर्शित तथ्य और विचार से UPTRIBUNE.com सहमती नहीं रखता और न ही जिम्मेदार है
SHARE

आपकी प्रतिक्रिया