कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी इस सप्ताह अंतरराष्ट्रीय एवं तकनीकी मामलों पर अमेरिका में वैश्विक चिंतकों, राजनीतिक नेताओं और वहां रह रहे प्रवासी भारतीयों के साथ वार्ता करेंगे।

 

करीब दो सप्ताह की अमेरिका की अपनी यात्रा में राहुल गांधी बर्कले में यूनिवर्सिटी ऑफ कैलिफोर्निया में कल समकालीन भारत एवं विश्व के सबसे बड़े लोकतंत्र की आगे की राह पर व्याख्यान देंगे।

 

भारत के पहले प्रधानमंत्री जवाहर लाल नेहरू ने 1949 में बर्कले में भाषण दिया था। राहुल गांधी की यात्रा की तैयारियों में शामिल प्रोद्यौगिकीविद् सैम पित्रोदा ने कहा, इस यात्रा के दो मकसद हैं। पहला मकसद दिलचस्प एवं वैश्विक विचारकों से मुलाकात करके अर्थव्यवस्था, तकनीक, अवसरों पर विश्व में हो रहे घटनाक्रमेां पर वार्ता करना और वैश्विक परिदृश्य पर विशेषज्ञों के विभिन्न विचारों को सुनना है।

 

पित्रोदा ने भारत के दूरसंचार क्षेत्र में बदलाव लाने के लिए पूर्व प्रधानमंत्री और राहुल गांधी के पिता राजीव गांधी के साथ करीब एक दशक तक काम किया था। उन्होंने कहा कि राहुल गांधी न्यूयार्क में प्रवासी भारतीयों से मुलाकात करेंगे।

 

कांग्रेस उपाध्यक्ष वाशिंगटन डीसी जाएंगे। उनकी सेंटर फॉर अमेरिकन प्रोग्रेस के एक समारोह में थिंक टैंक समुदाय के सदस्यों को संबोधित करने की योजना है और अमेरिका-भारत व्यापार परिषद के एक अन्य कार्यक्रम में कॉरपोरेट विश्व के साथ वार्ता करेंगे।



डिस्क्लेमर :इस आलेख में व्यक्त राय लेखक की निजी राय है। लेख में प्रदर्शित तथ्य और विचार से UPTRIBUNE.com सहमती नहीं रखता और न ही जिम्मेदार है

आपकी प्रतिक्रिया