लखनऊ :- लोकसभा चुनाव में उतरने से पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने कई बार अपने बयानों में साफ कहा था उत्तर प्रदेश में कांग्रेस पार्टी मजबूती से फ्रंट फुट पर लड़ेगी !

राहुल के बयान और इरादे को धरातल पर उतरते हुए तब देखा गया जब उत्तर प्रदेश की राजनीति में प्रियंका गांधी की एंट्री हुई तभी से प्रयास लगने लगे थे राहुल गांधी के अनुसार उत्तर प्रदेश में कांग्रेस पार्टी पूरे दमखम के साथ लड़ेगी !
बीते दिने पुलवामा में हुई घटना के बाद देश के बदलते राजनीतिक समीकरण से यह कयास लगाया जा रहा था कांग्रेस पार्टी उत्तर प्रदेश में बैक फुट पर आकर सपा व बसपा गठबंधन की शर्तों के अनुसार उत्तर प्रदेश में हाथ आजमाएगी ! पर ऐसी चर्चाओं को तगड़ा झटका तब लगा जब एक बार फिर राहुल गांधी ने अपने इरादों को मजबूती देते हुए उत्तर प्रदेश के लिए कांग्रेस के 11 उम्मीदवार की घोषणा कर दी कांग्रेस के 11 उम्मीदवार घोषित होने के बाद उत्तर प्रदेश में एक बार फिर चर्चाओं का दौर शुरू हो गया !
जानकारों के मुताबिक कांग्रेस के उम्मीदवारों की घोषणा कांग्रेस की प्रेशर पॉलिटिक्स का हिस्सा थी !
कांग्रेस के प्रत्याशियों की सूची आने के बाद समाजवादी पार्टी ने भी अपने प्रत्याशियों की सूची जारी की जिसके बाद फिर से कयास लगाए जाने लगे थे की सपा बसपा गठबंधन में कांग्रेस को शामिल करने की कोशिशें जारी है
उन्हीं चर्चाओं के बीच ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कांग्रेस पार्टी के उत्तर प्रदेश में अकेले लड़ने का ऐलान किया जिससे साफ जाहिर होता है कांग्रेस पार्टी उत्तर प्रदेश में फ्रंट फुट पर खेलने के पूरे मूड में है !

सूत्रो के अनुसार सपा बसपा गठबंधन में कांग्रेस को लाने की कोशिश अभी भी जारी है अंततः देखने वाली बात यह होगी कि कांग्रेस पार्टी गठबंधन में शामिल होती है या फिर पूरी मजबूती से उत्तर प्रदेश में अकेले मैदान में उतरती है ! फिलहाल यही कहा जा सकता है राहुल गांधी के वादे के अनुसार कांग्रेस पार्टी उत्तर प्रदेश में पूरी मजबूती से फ्रंट फुट पर खेल रहे हैं



डिस्क्लेमर :इस आलेख में व्यक्त राय लेखक की निजी राय है। लेख में प्रदर्शित तथ्य और विचार से UPTRIBUNE.com सहमती नहीं रखता और न ही जिम्मेदार है
SHARE

आपकी प्रतिक्रिया