लखनऊ :- आम चुनाव 2019 के लिए सभी राजनीतिक दल अपने अपने नफा नुकसान के मुताबिक सियासी बिसात बिछाने में लगे हुए हैं ! वहीं दूसरी तरफ देश के प्रमुख राजनीतिक दल कांग्रेस पार्टी भी राजनीति के लिहाज से देश के प्रमुख सूबे उत्तर प्रदेश में कांग्रेस की जड़े मजबूत करने की दिशा में काम करती देखी जा रही है !
गौरतलब है कि उत्तर प्रदेश में कांग्रेस पार्टी का ग्राफ पिछले कई दशकों से नीचे चला जा रहा था ऐसी परिस्थिति में कांग्रेस पार्टी के सामने आने वाले लोकसभा चुनाव मे एक चुनौती के रूप में देखा जा रहा है सूत्रों की मानें तो यूपी मे भारतीय जनता पार्टी के सामने प्रमुख विकल्प बनकर कांग्रेस पार्टी राजस्थान मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ में मिली जीत के ऊर्जा से लबरेज कार्यकर्ताओं के बल पर और दिन-ब-दिन कांग्रेस पार्टी के बढ़ते ग्राफ को देखते हुए राहुल गांधी ने उत्तर प्रदेश में समाजवादी पार्टी और बहुजन समाज पार्टी को बिना साथ लिए चुनाव में जाने का मन बना लिया !
जानकारों की मानें तो उत्तर प्रदेश जैसे राज्य में जहां क्षेत्रीय पार्टी का प्रभाव पिछले कई दशकों से हावी हो चुका था पर राहुल गांधी के इस दांव कांग्रेस पार्टी को संजीवनी मिल सकती है दूसरी तरफ सूत्रों की मानें तो चुनाव के बाद सपा और बसपा यूपीए मे जाने को पहले से ही तैयार है इस लिहाज से कांग्रेस पार्टी ऊर्जा से भरे अपने कार्यकर्ताओं का इस्तेमाल कर कांग्रेस पार्टी एक बार पुनः उत्तर प्रदेश में स्थापित करने का अवसर प्राप्त करती देखी जा रही है तो दूसरी तरफ यूपीए का भी रास्ता प्रशस्त देखा जा रहा है !



डिस्क्लेमर :इस आलेख में व्यक्त राय लेखक की निजी राय है। लेख में प्रदर्शित तथ्य और विचार से UPTRIBUNE.com सहमती नहीं रखता और न ही जिम्मेदार है
SHARE

आपकी प्रतिक्रिया