दिल्ली :- देश में आम चुनाव के मतदान संपन्न हो चुके है सभी चौराहों पर चाय की दुकानों पर जीत और हार को लेकर बहस छिड़ चुकी है इन्ही बहस के बीच भिन्न भिन्न प्रकार के एग्जिट पोल सामने आ रहे हैं सभी एग्जिट पोल मे होड सी लगी है कौन कितनी अधिक सीटें सत्तापक्ष गठबंधन के खाते में दिखा सकता है !
हमारी टीम ने मीडिया पोल पर आम जनता की राय जानना चाही तो बात सामने आई जिस दौर में वोटर मोदी टीशर्ट पहनकर कांग्रेस को वोट डालने की बात कबूल करता है उस दौर में एग्जिट पोल का सही होने के चांसेज कम लगते है ! प्रबुद्ध जनों से अधिकतर एक ही बात सामने आई कि एग्जिट पोल के एग्जिट होने के इमकान काफी कम ही रहते हैं ज्यादातर एग्जिट पोल सत्ता के पक्ष में ही दिखाई जाते हैं बीते विधानसभा चुनाव में राजस्थान छत्तीसगढ़ मध्य प्रदेश के एग्जिट पोल को देखा जाए तो उसमें भी सारे एक्जिट पोल धराशायी हो गए थे !
इस लोकसभा चुनाव में मतदाताओं ने ज्यादातर चुप्पी साधी रखी थी मतदाताओं की चुप्पी सत्ता पक्ष की पार्टी के लिए सदा ही अशुभ संकेत मानी जाती रही है अब देखने वाली बात यह होगी 23 तारीख को आने वाले चुनावी नतीजों मे मतदाताओं की चुप्पी असरदार साबित होती है या फिर टेलीविजन पर चीखचे हुए एग्जिट पोल !



डिस्क्लेमर :इस आलेख में व्यक्त राय लेखक की निजी राय है। लेख में प्रदर्शित तथ्य और विचार से UPTRIBUNE.com सहमती नहीं रखता और न ही जिम्मेदार है
SHARE

आपकी प्रतिक्रिया