अम्बेडकरनगर :- रमज़ान के अंतिम शुक्रवार को अलविदा जुमो को दुनिया भर में अंतरराष्ट्रीय यौमे कुद्स के रूप मे मनाया जाता है ! कुद्स का मतलब है दुनिया में मज़लूमों की मदद और ज़ालिमों के खिलाफ आवाज़ उठाने का दिन। रमज़ान के आखरी शुक्रवार को यौमे कुद्स के नाम से मनाने की परम्परा की शुरुआत आयतुल्लाह खुमैनी ने की थी। यौमे कुद्स सभी धर्मों के लोगों के लिए ज़ुल्म के खिलाफ आवाज़ उठाने का एक अनमोल मौक़ा होने के साथ साथ मुसलमानों के लिए एक धार्मिंक कर्तव्य की हैसीयत रखता है। संस्था से जुडे रेहान ज़ैदी ने बताया बाद नमाजे जुमा जामा मस्जिद के बाहर अकबपुर अम्बेडकरनगर मे आतंकवाद और जुल्म का विरोध कर यौमे कुद्स मनाया जाऐगा !



डिस्क्लेमर :इस आलेख में व्यक्त राय लेखक की निजी राय है। लेख में प्रदर्शित तथ्य और विचार से UPTRIBUNE.com सहमती नहीं रखता और न ही जिम्मेदार है
SHARE

आपकी प्रतिक्रिया