phpthumb_generated_thumbnail-1

उत्तर प्रदेश के यादव परिवार में मचे सियासी घमासान के बीच कांग्रेस अपना ट्रम्प कार्ड खेलने को तैयार है। लंबे समय से प्रदेश में कांग्रेसी कार्यकर्ता और नेता प्रियंका गांधी वाड्रा को बड़ी भूमिका में लाने की मांग करते रहे हैं। अब उनके सक्रिय राजनीति में आने को मौन सहमति मिल गई है। अभी तक प्रियंका मां सोनिया गांधी और भाई राहुल गांधी के लोकसभा क्षेत्रों में ही प्रचार करने तक सीमित रही हैं। कांग्रेस की सीएम कैंडिडेट शीला दीक्षित का मानना है कि प्रियंका का यूपी में शिरकत करना पार्टी के लिए किसी चमत्कार जैसा ही होगा।कांग्रेस की सीएम कैंडिडेट शीला दीक्षित का मानना है कि उत्तर प्रदेश में राहुल के अभियान से प्रियंका के जुड़ने से कांग्रेस की ताकत कई गुना बढ़ जाएगी। उन्होंने कहा कि कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने अपनी किसान यात्रा से पार्टी कार्यकर्ताओं का हौसला बढ़ाया है। अगर प्रियंका सक्रिय भागीदारी करने का फैसला लेती हैं तो यह पार्टी के लिए चमत्कार जैसा काम करेगा।प्रियंका ने यूपी चुनाव प्रचार के लिए अपनी सहमति दे दी है। चुनावी तारीखें घोषित होने के बाद उनका कार्यक्रम तय होगा।



डिस्क्लेमर :इस आलेख में व्यक्त राय लेखक की निजी राय है। लेख में प्रदर्शित तथ्य और विचार से UPTRIBUNE.com सहमती नहीं रखता और न ही जिम्मेदार है
SHARE

आपकी प्रतिक्रिया