दिल्ली। दिल्ली में एक कार्यक्रम में बोलते हुए काफ़ी लम्बे समय से कांग्रेस पर लग रहे आरोप की यूपीए के समय में सत्ता का पावर सोनिया गांधी के हाथ में था, बहुत ही बेबाक़ी से जवाब दिया और कहा की यूपीए के समय सत्ता सोनिया जी के हाथ में नहि था,सबके पास अपने अधिकार और पावर थे।

राहुल गांधी ने कहा की आज की तरह नही की पीएमओ में पूरी ताक़त सिर एक आदमी के पास है। यहाँ तक की विदेश मंत्री सुषमा स्वराज के पास भी कोई डिसिज़न लेने का कोई पावर नही हैं। राहुल जी ने कहा हम भाजपा के कई मंत्रियों से बात करते है। पूरे पावर सिर्फ़ प्रधानमंत्री के पास है।

आगे राहुल गांधी ने कहा नोटेबंदी और जीएसटी पर मोदी जी और वित्तमंत्री अटूँ जेटली द्वारा लिया ग़लत फ़ैसला है और ये मोदी जी द्वारा लायी हुई आपदा है , जिससे पूरा देश प्रभावित हुआ है।

 



डिस्क्लेमर :इस आलेख में व्यक्त राय लेखक की निजी राय है। लेख में प्रदर्शित तथ्य और विचार से UPTRIBUNE.com सहमती नहीं रखता और न ही जिम्मेदार है
SHARE

आपकी प्रतिक्रिया