सियासत की दहलीज पर प्रियंका गांधी की आहट से मची हलचल

नई दिल्ली/लखनऊ. वैसे तो कमोबेश हर माह देश के अलग-अलग हिस्सों में चुनाव हो रहा है. पर न सिर्फ देश बल्कि पूरी दुनिया की नजर भारत के सबसे बड़े राज्य उत्तर प्रदेश (यूपी) के चुनावों पर टिकी रहती है. उसमे भी परम्परागत शैली से इत्तर यदि सियासत की दहलीज पर कांग्रेस प्रमुख सोनिया गांधी की बेटी और पार्टी के आला नेता राहुल गांधी की बहन प्रियंका गांधी की आहट सुनाई पड़ने लगे तो स्वभावतः सियासी जंग रोमांचक होने की उम्मीद परवान चढ़ने लगती है. कहा जा रहा है कि सोनिया गांधी और राहुल गांधी के आलावा प्रियंका गांधी भी यूपी चुनाव में पार्टी के प्रचार के लिए सक्रिय भूमिका निभा सकती हैं. यदि इसमें सच्चाई है तो बेशक यूपी में बहन प्रियंका का डंका बजेगा, जो विपक्षियों की घबराहट से सिद्ध हो रहा है.

दूसरी तरफ नोटबंदी पर पार्टी का रुख तय करने और मोदी सरकार पर हमले की रणनीति तैयार करने के लिए कांग्रेस ने एक विशेष टीम बनाई है। इस टीम में प्रियंका गांधी भी शामिल हैं। केंद्र सरकार के खिलाफ पार्टी की रणनीति तैयार करने और इतने अहम मुद्दों में उनका शामिल होना संकेत देता है कि कांग्रेस की रणनीति में प्रियंका की भूमिका बढ़ती जा रही है। इससे पहले उत्तर प्रदेश चुनाव की तैयारी से जुड़ी पार्टी बैठक में भी प्रियंका मौजूद रही थीं।



डिस्क्लेमर :इस आलेख में व्यक्त राय लेखक की निजी राय है। लेख में प्रदर्शित तथ्य और विचार से UPTRIBUNE.com सहमती नहीं रखता और न ही जिम्मेदार है

आपकी प्रतिक्रिया