संसद में अविश्वास प्रस्ताव पर चर्चा के दौरान कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गाँधी को अपनी बात रखने का मौका मिला| आपको बता दें कि राहुल गाँधी पिछले काफ़ी वक्त से कहते आए हैं| उन्होंने चुनावी रैलियों में कई बार इस बात को उठाया है कि सरकार उनको संसद में बोलने का मौका नहीं देती| साथ ही उन्होंने ये भी कहा था यदि उनको संसद में बोलने का मौका मिला तो भूकंप आ जाएगा| जिसके चलते अविश्वास प्रस्ताव पर चर्चा के दौरान उन्होंने संसद में अपने भाषण के दौरान मोदी सरकार पर जमकर हमला बोला|

राहुल के भाषण के विशेष बिंदु – 

  • कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर हमला बोलते हुए कहा कि बीजेपी का भाषण जुमला है। पहला जुमला 15 लाख रुपये हर एक के खाते में।
  • युवाओं को परेशान कर देने वाले बेरोज़गारी के मुद्दे पर राहुल गांधी ने जमकर निशान साधा| उन्होंने कहा कि दूसरा जुमला हर साल 2 करोड़ युवाओं को रोज़गार देने का था| जबकि केवल चार लाख लोगों को ही रोजगार मिला है।
  • उन्होंने कहा कि नोटबंदी से कारोबारियों को चोट लगी है। जीएसटी कांग्रेस लाई थी लेकिन तब बीजेपी ने ही इसका विरोध किया था। उस समय गुजरात के मुख्यमंत्री रहते हुए जीएसटी का विरोध किया।
  • कांग्रेस अध्यक्ष यहीं नहीं रुके बल्कि राफ़ेल डील पर सवाल उठाते हुए उन्होंने कहा कि पहले रक्षामंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा था कि वो विमान के दाम बताएंगी लेकिन डील होने के बाद रक्षामंत्री ने कहा कि फ्रांस सरकार के साथ हुए समझौते के चलते विमान की कीमत का खुलासा नहीं किया जा सकता है| उन्होंने कहा कि राफ़ेल डील के बारे में मेरी फ्रांस के राष्ट्रपति से व्यक्तिगत बात हुई| राष्ट्रपति ने कहा कि फ्रांस और भारत सरकार के बीच ऐसा कोई समझौता नहीं हुआ है| जिससे यह साबित होता है कि रक्षामंत्री प्रधामंत्री मोदी के दबाव में होने के कारण डील के सही दाम नहीं बता रही हैं|
  • वर्तमान में महिलाओं पर बढ़ रहे अत्याचार के खिलाफ़ भी उन्होंने ने प्रधानमंत्री की चुप्पी पर निशाना साधा| साथ ही पेट्रोल – डीजल के बढ़ते दाम पर निशाना साधते हुए उन्होंने का सारी दुनिया में पेट्रोल – डीजल के दाम कम हो रहे हैं लेकिन भारत में दाम ऊपर उठ रहे हैं|
  • उन्होंने कहा कि पीएम मोदी ने देश के 20 – 25 उद्योगपतियों का 2.5 लाख करोड़ रुपये माफ कर दिया। वहीं देश के किसानों का भी कर्ज माफ नहीं किया जा रहा जिसके चलते वो आत्महत्या करने को मजबूर है|

आपको बता दें कि कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने प्यार का पाठ पढ़ाते हुए कहा कि मैं पीएम मोदी, आरएसएस और बीजेपी का आभारी हूँ जिन्होंने मुझे कांग्रेस और हिन्हुस्तानी होने का मतलब समझाया है| उन्होंने कहा कि हिन्दुस्तानी होने का मतलब है चाहे तुम्हारे खिलाफ़ कोई भी कुछ कह दे, झूठी बात बोले गाली दे, लाठी मारे तुम्हारे दिल में उसके लिए प्यार होना चाहिए| आपके अंदर मेरे लिए गुस्सा है, आपके लिए मैं पप्पू हूँ, आप मुझे अलग – अलग गाली दे सकते हो मगर मेरे अंदर आपके लिए ज़रा सा भी गुस्सा, कड़वाहट या नफ़रत नहीं है| ये भावना सारे देश के अंदर है, इस भावना ने मेरे देश को बनाया है इस बात को आप सब कभी मत भूलियेगा| उन्होंने कहा कि ये भावना आप सबके अंदर है और इस भावना को मैं एक एक करके आप सबके अंदर से प्यार निकालूंगा और आप सबको कांग्रेस में बदलूँगा| जिसके बाद अपनी इस बात को साबित करने के लिए देखते ही देखते कांग्रेस अध्यक्ष ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के कुर्सी की ओर जा पहुँचे और उनके गले लग गए| जिसको देख कर सदन में सभी लोग आश्चर्यचकित रह गए|   जहाँ उनके इस कदम को सभी लोगों द्वारा सराहा गया वहीं सदन में उनके भाषण के दौरान भाजपा के सांसदों ने जमकर हंगामा किया जिसके चलते राहुल गांधी के भाषण के बीच सदन की कार्यवाही रोकनी पड़ गर्ई|



डिस्क्लेमर :इस आलेख में व्यक्त राय लेखक की निजी राय है। लेख में प्रदर्शित तथ्य और विचार से UPTRIBUNE.com सहमती नहीं रखता और न ही जिम्मेदार है

आपकी प्रतिक्रिया