गीता मेहता और उनके पति भारत में नहीं बल्कि अमेरिका में रहते हैं… PMO से एक फ़ोन उनके भारतीय निवास पर आता है… बात जिसने भी की हो, घर का नौकर ख़ुश है कि उसे ख़ुद मोदी जी फ़ोन करते हैं….

PMO नौकर से नम्बर माँगता है, जो उसके पास नहीं होता…. एंबेसी से नम्बर निकलता है, गीता मेहता को मिलने के लिए बुलाया जाता है… प्राइममिनिस्टर से लम्बी मीटिंग होती है (क्या किसी और अवार्ड विनर से इतनी लम्बी मीटिंग की मोदी जी ने?)… आख़िरकार डेढ़ घंटे मोदी जी से बात करने के बाद गीता ख़ुद उठ जाती हैं ये कहके कि आप पीएम हैं, काफ़ी काम होगा आपको….

इसके बावजूद उन्हें अवार्ड दे दिया जाता है, जिसे वो ये कहकर ठुकरा देती हैं, कि ऐन चुनाव से पहले इस तरह के अवार्ड लेना या देना लोकतंत्र के लिए ठीक नहीं….

अब सवाल ये उठता है कि गीता मेहता में PMO का इतना इंटरेस्ट क्यूँ?????

क्यूँकि गीता मेहता के मियाँ सोनी मेहता Knopf Doubleday Publishing Group के चेयरमैन हैं, जो सिर्फ़ ओबामा और बुश जैसे दिग्गजों की किताबें और जीवनियाँ ही छापते हैं….

बाक़ी आप लोग ख़ुद समझदार हैं…..

लेखक- Mirza Yunus Beg



डिस्क्लेमर :इस आलेख में व्यक्त राय लेखक की निजी राय है। लेख में प्रदर्शित तथ्य और विचार से UPTRIBUNE.com सहमती नहीं रखता और न ही जिम्मेदार है
SHARE

आपकी प्रतिक्रिया