लखनऊ : सीएम अखिलेश यादव की अगुवाई में सरकार की अब तक की सबसे लंबी कैबिनेट बैठक चली। बैठक में बोलते हुए सीएम अखिलेश यादव ने कहा कि अभी वेतन का मामला आया है। बिजली से संबंधित कई महत्वपूर्ण फैसले लिए गए हैं। तहसीलों का परिसीमन बदला गया है। सीएचसी और दूसरे महत्वपूर्ण फैसले लिए गए है जिससे लाखों कर्मचारियों को फायदा होगा, जो जनवरी 2017 से लागू होगा।
उन्होंने कहा कि यूपी का चुनाव ऐतिहासिक होगा। सरकार द्वारा जो योजनायें लायी गयी है, उन योजनाओ से जनता को लाभ मिल रहा है और आगे भी मिलेगा। उन्होंने केंद्र सरकार पर आरोप लगते हुए कहा कि सरकार कैशलेस इकॉनमी की बात कर रही है, पर बताये तैयारी क्या है? बिना तैयारी जनता को दुःख पहुँचाया। कहते थे लाइन ख़त्म हो जायेगी, पर लोग अभी भी इंतज़ार कर रहे है। नोटबंदी से अर्थव्यवस्था पीछे हुई और लोगों का रोजगार छूटा है। यूपी में जल्द फिर लाइन लगने वाली है और लोग अपनी तकलीफों का बदला लेगें।
उन्होंने पार्टी में जारी घमासान को लेकर सीएम अखिलेश ने कहा कि पार्टी में कोई बवाल नहीं है। पार्टी के लोग जितना चाहते हैं कि सरकार बने जनता उससे ज्यादा चाहती है। कुछ बातों में आप मेरी राय जानते हो। टिकट वितरण को लेकर उन्होंने कहा कि टिकट कहाँ नहीं बदलते ? मुझे जो कहना होगा वो नेता जी कहूंगा। जो हमें बुलायेगा उसका प्रचार करेंगे ।
अखिलेश ने कहा कि पहले चीनी आयात किया गया, जिससे चीनी उद्योग ख़राब हुआ। अब ये देखना होगा किस लिए ये किया है ? चुनावी तैयारियों को लेकर उन्होंने कहा कि 15 दिसम्बर को हमीरपुर में बड़ा कार्यक्रम होगा, जिसमें रथ यात्रा चलेगी। जहाँ-जहाँ जाएंगे वहां रथ जायेगा। कांग्रेस से गठबंधन पर कहा कि अगर वो साथ आये तो 300 से ज्यादा जीतेंगे। वैसे हमारा अकेले में भी बहुमत आएगा। इस लिए बीजेपी मजबूत हो जाती है क्योंकि बीएसपी का वोट बीजेपी को ट्रांसफर हो जाता है। वे विकास विरोधी लोग है। अखिलेश ने कहा कि आखिरी समय तक टिकट बदलेंगे। समाजवादी पार्टी का टिकट उसे मिलेगा जो जीतेगा। गठबंधन के लिए हम तैयार है और इस मामले में नेता जी से बात करेंगे। अगर गठबंधन हुआ तो 300 सीटें जीतेंगे।



डिस्क्लेमर :इस आलेख में व्यक्त राय लेखक की निजी राय है। लेख में प्रदर्शित तथ्य और विचार से UPTRIBUNE.com सहमती नहीं रखता और न ही जिम्मेदार है
SHARE

आपकी प्रतिक्रिया