लखनऊ :- प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की महत्वाकांक्षी किसान सम्मान निधि योजना शुरू होते ही धराशाई हो गई ! किसानों के खातों में पहुंची पहली किस्त कुछ ही देर में रहने के बाद वापस हो गई ! जिससे किसानों में आई खुशी गुस्से में भी तब्दील हो गई ! धन वापसी के संबंध में बैंक अधिकारी अपना पल्ला झाड़ रहे हैं तो दूसरी तरफ कृषि विभाग के अधिकारी किसानों के सत्यापन मे कमी होने की सफाई दे रहे हैं ! आजमगढ़ अतरौलिया के किसान शेषमणि मिश्र का चयन प्रधानमंत्री सम्मान निधि योजना के अंतर्गत हुआ था प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा गोरखपुर से डिजिटल ट्रांसफर करने के बाद किसान को खाते में ₹2000 आने का मैसेज भी प्राप्त हुआ जिससे किसान में खुशी की लहर थी पर शाम होते होते यह खुशी गुस्से में तब्दील हो गई जब खाते से पैसा कटने का मैसेज प्राप्त हुआ किसान द्वारा बैंक में जाकर खाते का स्टेटमेंट लेने के बाद जानकारी हुई कि किसान को प्राप्त प्रधानमंत्री सम्मान निधि की पहली किस्त वापस हो गई है कुछ ऐसा ही कई किसानों के साथ होने की जानकारी मिल रही है जिस वजह से किसान बैंक के चक्कर लगा रहे हैं पर बैंक से कोई उचित जानकारी नहीं मिल रही है मीडिया में छपी रिपोर्ट के अनुसार अधिकारियों का कहना है कि पात्रों के अभिलेखों मे कमी के कारण ऐसा हो रहा है !

फिलहाल किसान बैंकों के चक्कर लगा रहे हैं और लोगों के मन में यह बात उठ रही है कि किसान सम्मान निधि की छोटी सी धन राशि भी कहीं एक जुमला ना बन कर रह जाए !



डिस्क्लेमर :इस आलेख में व्यक्त राय लेखक की निजी राय है। लेख में प्रदर्शित तथ्य और विचार से UPTRIBUNE.com सहमती नहीं रखता और न ही जिम्मेदार है
SOURCEदैनिक जागरण
SHARE

आपकी प्रतिक्रिया