लखनऊ:- उत्तर प्रदेश कांग्रेस सूबे भर में किसानों के मुद्दे पर आंदोलन की तैयारी पूरी कर ली है। पूरे सूबे में भाजपा सरकार की नीतिओं से नाराज़ किसानों के बीच में कांग्रेस कार्यकर्ता जाकर उनको एकजुट करेंगे। गौरतलब है कि कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी से लेकर प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू लगातार किसानों से सावालों पर मुखर रहे हैं और योगी आदित्यनाथ की सरकार को घेरते नज़र आएंगे हैं। महासचिव प्रियंका गांधी का आवारा पशुओं से परेशान किसानों की समस्या को लेकर किया गया ट्वीट सोशल मीडिया में काफी वायरल भी हुआ था। प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू लगातार किसानों के सावालों पर पूरे प्रदेश में बैठकों के हिस्सा रहे। खासकर पश्चिम उत्तर प्रदेश में गन्ने के सवाल पर कई प्रदर्शनों में भी नेतृत्व करते दिखे। अब कांग्रेस ने जमीन पर आंदोलन की जमीन तैयार कर सरकार को घेरने की पूरी रणनीति बना ली है।

*क्या है किसान जनजागरण अभियान?*

पूरे प्रदेश में किसान आवारा पशुओं से परेशान है। गन्ना किसानों के भुगतान की समस्याओं और घटतौली की खबरे लगातार मीडिया में आती रहती हैं। किसान आंदोलनों के जानकार बताते हैं कि पूर्वांचल में धान खरीदी भी बिचौलियों के भरोसे सरकार ने किया। बुंदेलखंड में लगातार किसान को बैंकों से नोटिसें मिल रही हैं। जबकि किसान बेमौसम बारिश की मार से जूझ रहा है, उसकी दलहन की फसल पूरी चौपट हो गयी है। इन सारे सावालों को लेकर कांग्रेस कार्यकर्ता सरकार को ब्लाक, तहसील से लेकर लखनऊ तक घेरने की तैयारी और रणनीति का प्रशिक्षण लेकर अपने अपने जिलों में तैयारी में जुट गए हैं। किसान आंदोलन को पांच चरणों में बंटा गया है। जिसमें ब्लॉक से लेकर लखनऊ तक सरकार को घेरने की रणनीति बनी है। इस अभियान के तहत किसानों के नेतृत्व में कांग्रेस नेता जिला स्तर पर प्रशासन के साथ भजापा के जनप्रतिनिधियों को भी घेरेंगे।

*कांग्रेसी कार्यकर्ता किसान मांग पत्र लेकर डेढ़ करोड़ किसानों से करेंगे जनसंपर्क*

कांग्रेस के सूत्र बताते हैं कि इस अभियान के लिए किसान मांग पत्र भी छप रहा है, जिसको लेकर कांग्रेस कार्यकर्ता किसानों के बीच में जाएंगे। कांग्रेस के एक नेता नाम न छापने के शर्त पर बताते हैं कि हर ब्लाक में करीब 50 कार्यकर्तओं को चिन्हित किया गया है जिनको किसान मांग पत्र देकर किसानों के बीच में उतारा जाएगा। साथ ही साथ जमीन पर किसान आंदोलन का माहौल बनाने के लिए पूरे प्रदेश में हर ब्लाक में दो बड़ी नुक्कड़ सभा होगी जिसमें कांग्रेस के प्रदेश पदाधिकारी मौजूद रहेंगे। कांग्रेस ने पूरे प्रदेश में करीब 15 हज़ार नुक्कड़ सभाओं की रूपरेखा भी तैयार कर ली है।



डिस्क्लेमर :इस आलेख में व्यक्त राय लेखक की निजी राय है। लेख में प्रदर्शित तथ्य और विचार से UPTRIBUNE.com सहमती नहीं रखता और न ही जिम्मेदार है
SHARE

आपकी प्रतिक्रिया