लखनऊ :- कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी द्वारा न्यूनतम आय गारंटी योजना को लागू करने की घोषणा के बाद देश में चर्चा का दौर शुरू हो चुका है की भारत जैसे विशाल देश में इस प्रकार की योजना कैसे लागू होगी ? इसका देश पर असर क्या होगा ?

सबसे पहले आपको बताते चलें जानकारों के मुताबिक न्यूनतम आय गारंटी योजना लागू करने के लिए सबसे ज्यादा जरूरी है योजना के प्रति इमानदारी, हमारे एक्सपर्ट बताते हैं इस पहलू पर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी का पक्ष काफी मजबूत देखा जा रहा है इतिहास के पन्ने बताते हैं इस प्रकार की क्रांतिकारी योजना लागू करने मे कांग्रेस पार्टी की सरकारों ने राजनैतिक नफा नुकसान से ऊपर उठकर सदा दृढ़ इच्छाशक्ति दिखाई ! उदाहरण के तौर पर यूपीए सरकार के दौरान नरेगा लागू करने के पूर्व तमाम तरह की आलोचनाओं व विरोध का सामना कांग्रेस को करना पड़ा था पर दृढ़ इच्छा शक्ति के साथ कांग्रेस पार्टी ने नरेगा जैसी क्रांतिकारी योजना देश को दी जिसको देखते हुए यह कहा जा सकता है कि न्यूनतम आय गारंटी योजना देश में लागू करने के लिए कांग्रेस पार्टी कोई कोर कसर नहीं छोड़ेंगी !

आपको यह भी बताते चलें जानकारों व विशेषज्ञों के मुताबिक न्यूनतम आय गारंटी योजना देश में आसानी से लागू की जा सकती है ! विशेषज्ञों के अनुसार देश के बड़े प्रोजेक्ट, माइनिंग आदि पर सर चार्ज बढ़ाकर और हीरे आदि (जिस पर टैक्स अमूमन सबसे निचले स्तर लिया जा रहा है ) पर टैक्स संशोधन करके अथवा अन्य रास्तों से फंड का इंतेजाम आसानी से किया जा सकता है और इस योजना के लिए फंड की कहीं से कोई कमी नहीं होगी !

देश में यूबीआई के पायलट प्रोजेक्ट से बेहतर परिणाम भी सामने आए हैं ! जिसको देखते हुए कहा जा सकता है कि न्यूनतम आय गारंटी जैसी योजना देश के विकास के लिए मील का पत्थर भी साबित हो सकती है जो देश के गरीबों के जीवन स्तर को ना सिर्फ सुधरेगी बल्कि उनको काफी ऊपर भी ले जायेंगी



डिस्क्लेमर :इस आलेख में व्यक्त राय लेखक की निजी राय है। लेख में प्रदर्शित तथ्य और विचार से UPTRIBUNE.com सहमती नहीं रखता और न ही जिम्मेदार है
SHARE

आपकी प्रतिक्रिया