दिल्ली:- राजस्थान की भाजपा सरकार ऐसा कानून लाने की तैयारी में है जिससे भ्रष्टाचार को बढ़ावा मिलेगा प्रस्तावित बिल में आपराधिक प्रक्रिया संहिता (CrPC) की धारा 156 (3) एवं 190 (1) में संशोधन किया गया है. ये बिल सितंबर में लाए गए उस अध्यादेश की जगह लेगा जिसमें किसी जज, मजिस्ट्रेट या लोकसेवक के उस काम के खिलाफ सरकारी मंजूरी के बिना जांच पर प्रतिबंध लगाया गया है, अगर वह उसके आधिकारिक कर्तव्यों को पूरा करने के दौरान किया गया है.

 

यानी अब कोई भी मजिस्ट्रेट किसी लोकसेवक के खिलाफ तत्काल जांच के आदेश नहीं दे सकता. जांच के आदेश के लिए सक्षम प्राधिकारी को 180 दिन का समय दिया गया है. हालांकि 180 दिन में मंजूरी नहीं मिलती है तो इसे मंजूरी ही माना जाएगा.

 

प्रस्तावित कानून को लेकर जनता मे वंसुधरा राजे के खिलाफ काफी आक्रोश देखा जा सकता है ! लोग अपनी भडास सोशल साइट्स पर निकाल रहे है, ट्वीटर पर #HitlerRaje के साथ लोगों ने भाजपा सरकार को जमकर कोसा लोगों ने ट्वीटर पर लिखा कि

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

गौरतलब हो कि उक्त मुद्दे पर कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी की ट्वीट कल ही आ चुकी है जिससे राजनीति उठापटक का दौर कल से चल रहा है राहुल ने ट्वीट करते हुए लिखा था कि



डिस्क्लेमर :इस आलेख में व्यक्त राय लेखक की निजी राय है। लेख में प्रदर्शित तथ्य और विचार से UPTRIBUNE.com सहमती नहीं रखता और न ही जिम्मेदार है

आपकी प्रतिक्रिया